Jadui chuha ki khani
Chuha magic

एक गांव में एक बहुत गरीब है जिसमें 3 लोग रहते थे,पहला का नाम मोहन उसके बेटे का नाम राह और उसकी पत्नी रहती थी मोहाn करता तभी वह को चला पाता था, वरना वह थाने का भी मोहताज हो जाता था,

एक दिन मोहन की की तबीयत अचानक से खराब हो गई जिसके कारण हुआ, कहां पर ना जा सका यह देखकर राहुल और उसके पत्नी बहुत है दुखी हो गए पर एक ऐसा चमत्कार हुआ, जिसे देखकर वह दंग रह गए उसी घर में एक चूहा रहा करता था, उसने सोचा कि एक क्यों परेशान है, चलो इनकी परेशानी हम दूर कर देते हैं, यह कह कर चूहा ने कुछ ऐसा किया जिसे मोहन पलंग से उठ खड़ा हो गया यह देखकर राहुल और उसकी पत्नी बहुत खुशी हुई और मोहन बोला अब मेरी बीमारी दूर हो गई है, अब मैं काम कर सकूं और भरपेट खाना खा सकता हूं, तभी ऊंचे दरवाजे पर एक आदमी आया और उसे उस घर में उसकी पत्नी को एक पोटली दिया और वह आज बोला कि तुम भी किसी का मत करना वरना वह भाग लेगा यह सुनकर उसकी पत्नी सोने लगे कि कौन भाग जाएगा,और फिर वह पोटली खोली तो उसका घर और धन दुगना हो चुका था यह देखकर सारे परिवार खुश हुए पर उनकी धीरे-धीरे कमाई अच्छी होने लगी, जिससे उन्हें धान की घमंड हो गए कुछ दिन बाद उनके घर के पास एक साधु आया और साधु ने बोला कि क्या मैं यहां आराम कर सकता हूं, रामू की पत्नी बोली क्या तुम्हें या धर्मशाला दिखाई पड़ता है साधु वहां से चला गया कुछ क्षण बाद एक भिखारी आई और भीख मांगने लगी रामू बोलता है कि कभी साधु कभी भिखारी यह क्या तुम्हें दिखाई देता है यह घर है चलो भागो भिखारी भाग गया तो उस घर का चूहा देखा तो बोला कि अब इन्हें धन के घमंड हो गई है और चूहा बोला ऊंची आवाज में अब तुम्हें धन के घमंड हो गई है अब मैं जा रहा हूं तभी उसे उस आदमी की याद आई कि वह भाग जाएगा चूहा जैसे ही भागता है राहुल उसे पिंजड़े में कैद कर लेता है चूहा पिंजरे में आ जाता और उसे चैट कर रखते हैं ताकि वह अमीर रह सके पर ऐसा ना हुआ चूहा जैसा दुखी रहता था वैसे ही उसके काम में भी मुनाफा नहीं आता मोहन बोला चूहा से यहां तुम्हें क्या चीज की परेशानी है चूहा बोला जितना मैं दुखी रहूंगा उतना तुम भी दुखी रहोगी तो उसकी पत्नी ने बोला कि तुम्हें खुश कैसे करो चूहा बोलता है कि तुम मुझे पिंजरे से निकाल दो राहुल ने उसे पिंजरे से आजाद करते ही चूहा खिड़की से बाहर भाग जाता है और कुछ दिनों बाद वा पहले जैसा घर हो जाता है


इसलिए हमें दौलत आने पर घमंड ही होना चाहिए बल्कि उससे गरीबों की मदद करनी चाहिए इस कहानी से यही शिक्षा मिलती है आप भी ऐसा करें।